chessbase india logo

गोरयाचकिना को हरा जू वेंजून नें विश्व महिला शतरंज में बनाई बढ़त

10/01/2020 -

आखिरकार विश्व महिला शतरंज चैंपियनशिप में पहली जीत की खबर आ गयी है और अनुभवी मौजूदा विश्व चैम्पियन चीन की जू वेंजून नें युवा चुनौती रूस की आलेक्सान्द्रा गोरयाचकिना को लगातार तीन ड्रॉ के बाद चौंथे राउंड में पराजित करते हुए 2.5-1.5 से बढ़त बना ली है अब एक दिन विश्राम के बाद वह राउंड 5 और 6 खेलने उतरेंगी तो चीन में पहले पड़ाव के खत्म होने तक वह निश्चित तौर पर अपनी बढ़त को मजबूत करना चाहेंगी तो वही युवा गोरयाचकिना रूस में मैच पहुँचने के पहले हिसाब बराबर करना चाहेंगी और इसके साथ ही अवह यह भी तय हो गया है की आने वाले राउंड बेहद रोमांचक होंगे । पढे यह लेख 

Fritz 17 including Fat Fritz is OUT now

World's longest lasting chess program and highest selling chess software, Fritz 17 now comes with neural network Fat Fritz*. The "most popular chess program" (according to German magazine Der Spiegel) offers you everything you will need as a dedicated chess enthusiast, with innovative training methods for amateurs and professionals alike, plus access to the full suite of ChessBase web apps, including the Playchess playing server.

दिल्ली इंटरनेशनल का भव्य शुभारंभ ! गोविंद जोशी और अतुल दहाले नें किया उलटफेर

10/01/2020 -

विश्व के सबसे बड़े ओपन इंटरनेशनल टूर्नामेंट से नवाजे जा चुके दिल्ली इंटरनेशनल शतरंज चैंपियनशिप का शुभारंभ लंबे समय तक देश में क्रिकेट और हाँकी जैसे खेलो के प्रयोजक रहे  सहारा श्री सुब्रत रॉय नें पहली चाल चलकर किया । प्रतियोगिता के तीनों वर्गो में मिलकर 2500 से ज्यादा खिलाड़ियों की एंट्री हो चुकी है और एक बार फिर एशिया की सबसे बड़ी पुरूष्कार राशि 1करोड़ 11 लाख वाला यह आयोजन रफ्तार पकड़ रहा है । खैर बात करे पहले दिन के उलटफेर की तो सबसे बड़ा कारनामा किया दिल्ली के अनुभवी खिलाड़ी जीबी जोशी नें ग्रांड मास्टर हर्षा भारतकोठी को तो अतुल दहाले नें तजाकिस्तान के मोहम्मद खुसेनखोजेव को पराजित कर दिया जबकि छत्तीसगढ़ के धनंजय नें उज्बेकिस्तान के नोदिरबेक को ड्रॉ पर रोका । इसी बीच भारत सिंह चौहान नें दिल्ली ओपन 2021 की पुरूष्कार राशि 1 करोड़ 25 लाख घोषित कर दी है । 

संदीपन चंदा ने जीता पांचवी आईआईएफएल मुंबई इंटरनेशनल का खिताब

09/01/2020 -

अखिल भारतीय शतरंज संघ से संबंद्ध इंडियन चेस स्कूल और साउथ मुम्बई चेस एकेडमी के संयुक्त आयोजन में मुंबई के द आर्केड वर्ल्ड सेंटर के कफ परेड कोलाबा में 30 दिसंबर से 7 जनवरी तक आयोजित हुई पांचवीं आईआईएफएल इंटरनेशनल ग्रांडमास्टर चेस टूर्नामेण्ट का सफलता पूर्वक समापन हो हुआ। टूर्नामेण्ट के जीएम ओपेन कैटेगरी के विजेता के लिए आखिरी राउण्ड तक धमासान जारी रहा। नौवें राउण्ड की समाप्ती के बाद अंकतालिका में 7.5 अंक बनाकर संयुक्त रूप से दो भारतीय ग्रांडमास्टर विजेता बनने की रेस में शामिल हुए। लेकिन बेहतर टाईब्रेक के आधार पर चैम्पियन का ताज टूर्नामेण्ट में नौवीं सीटेड ग्रांडमास्टर संदीपन चंदा के सिर सजा। वहीं उपविजेता दीपन चकवर्ती बने। सभी विजयी खिलाड़ियों को शतरंज के बेताज बादशाह, पांच बार के विश्व चैम्पियन सुपर ग्रांडमास्टर विश्वनाथन आनंद ने अपने हाथों से पुरस्कृत कर खिलाड़ियों के चेहरे में गजब की मुस्कान देकर टूर्नामेण्ट की सफलता को चार चांद लगा दिया। पढ़े नितेश श्रीवास्वत की रिपोर्ट। फोटो मुंबई से मुकेश बलीराम भोसले के सहयोग से

विश्व महिला चैंपियनशिप R3 - फिर गोरयाचकिना थी जीत के करीब

08/01/2020 -

कहते हुए शतरंज में जीते हुए मैच को जीतना या फिर बेहतर स्थिति को सम्हालना सबसे मुश्किल काम है और यही हो रहा है चीन के शंघाई में चल रही विश्व महिला शतरंज चैंपियनशिप में जहां पर तीन मुकाबलो के बाद मौजूदा विश्व चैम्पियन चीन की जू वेंजून और उनकी युवा चैलेंजर रूस की आलेक्सान्द्रा गोरयाचकिना 1.5-1.5 की बराबरी पर खेल रही है । पहले तीन राउंड के खेल का आकलन करे तो गोरयाचकिना का पडला फिलहाल भारी नजर आ रहा है ,काले मोहरो से जहां उन्होने आसान ड्रॉ खेला है तो दोनों बार सफ़ेद मोहरो से वह काफी बेहतर स्थिति में पहुंची है हालांकि वह अपनी अच्छी स्थिति का उतना अच्छा फायदा नहीं उठा सकी है । अब चीन में तीन और राउंड खेले जाने शेष है और फिर प्रतियोगिता रूस में खेली जाएगी देखना होगा क्या प्रतियोगिता के पहले भाग में कोई एक खिलाड़ी आगे निकल पाएगा । पढे यह लेख 

विश्व महिला चैंपियनशिप R2 - वेंजुन - गोरयाचकिना का दूसरा ड्रॉ

06/01/2020 -

विश्व महिला शतरंज चैंपियनशिप में मौजूदा विश्व चैम्पियन चीन की जू वेंजुन और रूस की आलेक्सान्द्रा गोरयाचकिना के बीच दूसरा मुक़ाबला भी ड्रॉ पर समाप्त हो गया और इसके साथ ही अब 10 राउंड बाकी रह गए है जिसमें 4 चीन में तो 6 रूस में खेले जाने है और इस लिहाज से चैलेंजर रूस की आलेक्सान्द्रा गोरयाचकिना मनोवैज्ञानिक तौर पर बढ़त में नजर आ रही है । दूसरे दिन हुए मुक़ाबले में राय लोपेज के बर्लिन डिफेंस में उन्होने खेल को आसानी से ड्रॉ करा लिया । हालांकि एक समय जू वेंजुन बढ़त और दबाव बनाने की कोशिश कर सकती थी पर उन्होने सुरक्षित रहने का रास्ता चुना और स्कोर 1-1 पर पहुँच गया है । पढे यह लेख 

महिला विश्व चैंपियनशिप R1 : वेंजून - गोरयाचकिना के बीच 97 चाल चला मुक़ाबला !

05/01/2020 - चीन के शंघाई में आज से महिला विश्व शतरंज चैंपियनशिप का शुभारंभ हो गया और इस माह हमें पता चल जाएगा की क्या चीन की जू वेंजून एक बार फिर विश्व चैम्पियन का ताज पहनेंगी या फिर युवा आलेक्सान्द्रा गोरयाचकिना विश्व महिला शतरंज की सिरमौर बनेंगी । फिलहाल आज पहला राउंड खेला गया और यह हुआ 97 चालों का मैराथन मुक़ाबला जिसमें गोरयाचकिना नें पूरे समय वेंजून पर दबाव बनाए रखा पर अंततः मुक़ाबला अनिर्णीत समाप्त हुआ । प्रतियोगिता में पहले छह राउंड चीन में तो अंतिम छह राउंड रूस में खेले जाएँगे । खैर भारतीय शतरंज के नजरिए से यह मुक़ाबला इसीलिए भी अहम है की जिस तरह से कोनेरु हम्पी नें पिछले छह माह मे शतरंज जगत मे वापसी की है एक बार उनकी विश्व चैंपियनशिप खेलने की उम्मीद बढ़ गयी है और ऐसे मे इसका विजेता आने वाले समय मे हम्पी का प्रतिद्वंदी हो सकता है । पढे यह लेख 

IIFL मुंबई इंटरनेशनल - उक्रेन के एडम ,मिश्र के हेशम सयुंक्त बढ़त पर

04/01/2020 -

अखिल भारतीय शतरंज संघ से संबंद्ध इंडियन चेस स्कूल और साउथ मुम्बई चेस एकेडमी के तत्वावधान में मुम्बई में आईआईएफएल पाचवीं इंटरनेशनल ग्रांडमास्टर चेस टूर्नामेण्ट का आयोजन एक्सपो सेंटर, द आर्केड वर्ल्ड सेंटर मुंबई में हो रहा है। 30 दिसंबर 2019 से शुरू हुआ यह टूर्नामेण्ट 7 जनवरी 2020 तक पांच कैटेगरी में खेला जाएगा। प्रतियोगिता के ग्रांडमास्टर ओपेन कैटगरी के नौ राउण्ड के मैच में 5 राउण्ड के मैच सफलता पूर्वक सम्पन्न हो चुके है। पांच चक्रों की समाप्ती के बाद उक्रेन के ग्रांडमास्टर तुखेव ऐडम और मिश्र के ग्रांडमास्टर हेशम अब्देलरहमान ने नाबाद प्रदर्शन जारी रखते हुए 4.5 अंक बनाकर अंकतालिका में संयुक्त रूप से पहले स्थान पर बने हुए है। वहीं 13 खिलाड़ी 4 अंक बनाकर संयुक्त रूप से दूसरे स्थान पर बने हुए है। इसमें भारतीय दल में शामिल सायतन दास अंकतालिका में भारतीय खिलाड़ियों में सबसे उपर चल रहे है। पढ़े नितेश श्रीवास्तव की रिपोर्ट। सभी फोटो मुंबई से मुकेश बलीराम भोसले के सहयोग से

दिल्ली के सत्यम प्रकाश के सिर सजा लेकसिटी विंटर चेस टूर्नामेण्ट का ताज

02/01/2020 -

अखिल भारतीय शतंरज संघ के संबंद्ध चेस इन लेकसिटी के आयोजन में राजस्थान की खूबसूरत पर्यटन स्थलीय और झीलों की नगरी के नाम से मशहूर उदयपुर में 18 दिसंबर से 20 दिसंबर 2019 तक लेकसिटी विंटर बिलो 1600 फीडे रेटिंग चेस टूर्नामेण्ट का आयोजन आर्बिट रिजॉर्ट में किया गया। प्रतियोगिता में कुल 8 राउण्ड के मैच खेले गए। प्रतियोगिता में तीसरी वरियता प्राप्त खिलाड़ी दिल्ली के सत्यम प्रकाश ने (1574) नाबाद प्रदर्शन करते हुए 7.5 अंक बनाकर टूर्नामेण्ट की चमचमाती ट्रॉफी अपनी झोली में डाल ली। इस जीत पर उन्हें 1 लाख 11 हजार रुपये की पुरस्कार राशि भी मिली। प्रतियोगिता में कुल पुरस्कार राशि 11 लाख रुपये थी। जिसे कुल तीन अलग-अलग श्रेणियों में वितरीत किया गया। पढ़े नितेश श्रीवास्तव की रिपोर्ट, सभी फोटो चेस इन लेकसिटी के सचिव विकास साहू सहयोग से

नववर्ष की शुभकामनाए ! हल करें शतरंज पहेली !

01/01/2020 -

चेसबेस इंडिया परिवार की ओर से आप सभी को नववर्ष 2020 की शुभकामनाए ! उम्मीद है यह साल आपके लिए शतरंज के साथ साथ जीवन मे भी नए मुकाम लेकर आएगा । आज हिन्दी चेसबेस इंडिया आपके लिए लाया है तीन शतरंज पहेली जिनके जबाब देकर आप जीत सकते है कुछ पुरुष्कार तो दोस्तो कोशिश करे की क्या आप इनके जबाब ढूंढ सकते है । आप अपने जबाब 2 जनवरी रात 8 बजे तक हमें ईमेल कर सकते है ! इस वर्ष भी हिन्दी चेसबेस इंडिया आपके लिए शतरंज के हर बड़े से बड़े और छोटे से छोटे टूर्नामेंट का विश्लेषण लाता रहेगा ! पढे यह लेख 

मेगनस कार्लसन बने तीनों फॉर्मेट के विश्व विजेता !

31/12/2019 -

उन्होने यह कारनामा एक बार फिर कर दिखाया ,जी हाँ मेगनस कार्लसन नें 2014 के बाद एक बार फिर 2019 के जाते जाते तीनों विश्व खिताब क्लासिकल ,रैपिड और ब्लिट्ज़ अपने नाम कर लिए और इतिहास को एक बार फिर दोहरा दिया । 2013 में उनके विश्व क्लासिकल चैम्पियन बनने के बाद उसी ऊर्जा में तीनों खिताब हासिल करना जहां एक नए विजेता का उदय था तो 2019 में उनका यह कारनामा उनके खुद को बेहतर करने और शीर्ष पर बनाए रखने की असाधारण काबलियत और क्षमता का नमूना है । शतरंज के छोटे फॉर्मेट में लगातार उन्हे परेशानियों का सामना करना पड़ा है लेकिन उन्होने खुद को बेहतर बनाए रखना जारी रखा और आखिरकार तीनों फॉर्मेट में विश्व विजेता बन गए ! पढे यह लेख 

कोनेरु हम्पी बनी मिसाल :जीता विश्व रैपिड खिताब !

30/12/2019 -

जैसे - जैसे शतरंज घड़ी में समय घट जाता था भारतीय शतरंज प्रेमियों की धड़कने तेज हो रही थी तभी भारत की कोनेरु हम्पी समय के समाप्त होने के चलते चीन की ली टिंगजी से हार गयी । मौका था विश्व रैपिड शतरंज चैंपियनशिप में पहले स्थान के लिए टाईब्रेक का और तय होना था की कौन बनेगा 2019 का विश्व महिला रैपिड शतरंज चैम्पियन । ऐसा लग रहा था की एक बार फिर हम्पी के हाथ से विश्व खिताब निकल जाएगा पर इस बार भाग्य हम्पी के लिए कुछ और कहानी पहले ही लिख चुका था अगले ही टाईब्रेक ब्लिट्ज़ मुक़ाबले में हम्पी नें जीत दर्ज करते हुए मैच को अरमागोदेन में पहुंचा दिया और फिर उन्हे खेलना था काले मोहरो से जिसमें ड्रॉ भी जीत के लिए काफी था पर समय कम था पर हम्पी नें अंतिम समय में अपनी भावनाओं पर नियंत्रण रखते हुए वह कारनामा कर दिया जिसका खुद उन्हे लंबे समय से इंतजार था और जो कभी ना कभी उनके हिस्से आना ही था । इतिहास बना और भारत की बेटी कोनेरु हम्पी बन गयी विश्व रैपिड शतरंज चैम्पियन । पढे यह लेख .... 

उज्बेकिस्तान के नोदिरबेक बने भोपाल इंटरनेशनल के विजेता ,भारत के वेंकटेश रहे उपविजेता

29/12/2019 -

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में वर्ष 2019 के मध्य भारत के सबसे बड़े टूर्नामेंट "भोपाल इंटरनेशनल ग्रांडमास्टर शतरंज टूर्नामेंट का समापन उज्बेकिस्तान के 17 वर्षीय ग्रांड मास्टर याक़ूबबोएव नोदिरबेक के विजेता बनने के साथ हो गया । पूरी प्रतियोगिता में वह अविजित रहे । भोपाल इंटरनेशनल नें अब तक का सबसे रोमांचक अंत देखा जब सभी 10 राउंड के बाद 6 खिलाड़ी 8 अंको पर  पहुँच गए । अंततः टाईब्रेक अंको के आधार पर रैंकिंग तय हुई । भारत के शीर्ष खिलाड़ी और पांचवे वरीय एम आर वेंकटेश नें उपविजेता का स्थान हासिल कर भारत को गौरान्वित किया । प्रतियोगिता के पुरुष्कार वितरण में भारत सरकार के खेल सचिव राधेश्याम जुलानिया नें आकर सभी का उत्साह बढ़ाया तो पुरुष्कार वितरण में अखिल भारतीय शतरंज संघ के सभी पदाधिकारी भी एक साथ नजर आए । पढे यह लेख 

क्या वेंकटेश करेंगे भारत के नाम भोपाल का खिताब?

28/12/2019 -

भोपाल इंटरनेशनल ग्रांड मास्टर शतरंज टूर्नामेंट अपने आखिरी  पड़ाव मे आ चुका है और अब चूंकि सिर्फ अंतिम राउंड खेला जाना बाकी है हर कोई यह जानना चाहता है की इस बार का विजेता कौन होगा ? और इसका जबाब है - " कहना मुश्किल है " राउंड 9 में समीकरण कुछ यूं बदले की चार खिलाड़ी उज्बेकिस्तान के याक़ूबबोएव नोदिरबेक, हंगरी के चेबे अटिला ,भारत के एम आर वेंकटेश और वियतनाम के नुगेयन वान हुय 7.5 अंको पर पहुँच गए है और अंतिम राउंड में आपस में मुक़ाबला खेलेंगे और यहाँ पर हार और जीत खिताब तय कर सकती है तो ड्रॉ 7 अंको पर खेल रहे 8 खिलाड़ियों के लिए रास्ता खोल सकती है । भारत की नजरे इस पर भी रहेंगी की क्या अब तक भारतीय खिलाड़ियों की पहुँच से अब तक दूर रहा यह खिताब कोई भारतीय जीतेगा ? तो नजरे होंगी आज पहले बोर्ड पर खेल रहे वेंकटेश पर ,अगर उन्होने नोदिरबेक को हराया तो खिताब जीतने की प्रबल संभावना दिखाई पड़ती है पढे यह लेख 

भोपाल इंटरनेशनल - R8:नोदिरबेक की बढ़त बरकरार

27/12/2019 -

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में चल रहे "भोपाल इंटरनेशनल ग्रांडमास्टर शतरंज टूर्नामेंट " अब अपने अंतिम पड़ाव के करीब पहुँच गया है और वैसे तो टॉप सीड उज़्बेक ग्रांडमास्टर याक़ूबबोएव नोदिरबेक सबसे आगे चल रहे है पर उनके ठीक पीछे भारत के एम आर वेंकेटेश समेत कुल 10 खिलाड़ी 6.5 अंको पर खेल रहे है ऐसे में दरअसल कौन खिताब जीतेगा यह कहना थोड़ा मुश्किल है । राउंड 8 मे पहले बोर्ड पर अपनी बेहतरीन ओपनिंग की तैयारी से वियतनाम के नुज्ञेन वान हुय नें नोदिरबेक याक़ूबबोएव को बढ़त बनाने का कोई मौका नहीं दिया । वैसे शीर्ष के चार बोर्ड पर परिणाम ड्रॉ रहने से बोर्ड 5 पर भारत के एम आर वेंकटेश को जीत दर्ज करते हुए सयुंक्त दूसरे स्थान पर लौटने का अच्छा मौका मिला । पढे यह लेख 

भोपाल इंटरनेशनल - नोदिरबेक नें सिर्फ 18 चालों में स्टानीस्लाव को हराकर बनाई बढ़त

26/12/2019 -

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में कल रहे भोपाल इंटरनेशनल ग्रांडमास्टर शतरंज चैंपियनशिप के राउंड 7 में टॉप सीड उज्बेकिस्तान के याक़ूबबोएव नोदिरबेक नें सबसे आगे चल रहे और लगातार छह मैच जीत चुके उक्रेन के स्टानीस्लाव  को पराजित करते हुए एकल बढ़त हासिल कर ली और अब देखना यह होगा की क्या बचे हुए तीन राउंड में वह अपनी यह बढ़त बरकरार रख पाएंगे । अन्य मुकाबलो में दूसरे बोर्ड पर कोलम्बिया के रिओस नें एक मुश्किल स्थिति में से मैच को ड्रॉ पर रखा और जोरदार कोशिश कर रहे उक्रेन के एडम तुखेव को सिर्फ आधा अंक ही बनाने दिया । अब बचे हुए हर दिन सिर्फ एक राउंड खेला जाएगा । पढे यह लेख