chessbase india logo

NEW Fritz 17 is now available

Fritz 17 - The giant PC chess program, now with FAT Fritz*. An extremely strong neural net engine inspired by Alpha Zero, which produces human-like strategic analyses of world class quality. Order now to get your hands on Fritz 17 and Fat Fritz*.

लंदन फीडे ओपन - प्रग्गानंधा खिताब जीतने के करीब

06/12/2019 -

लंदन चेस क्लासिक के फीडे ओपन के आठवे राउंड में भारत के अरविंद चितांबरम और आर प्रग्गानंधा के बीच खेला गया मुक़ाबला ड्रॉ रहा और इसके साथ ही प्रग्गानंधा नें अपने आधे अंक की बढ़त को बरकरार रखा है ,पर अब वह बढ़त पर अकेले नहीं रह गए है और औस्ट्रेलिया के अंटोन स्मिरनोव नें इंग्लैंड के स्टीफन गॉर्डन को पराजित करते हुए 7 अंक बनाकर सयुंक्त बढ़त हासिल कर ली है । आखरी राउंड में सफ़ेद मोहरो से खेल रहे प्रग्गानंधा  के सामने हमवतन सहज ग्रोवर होंगे जो की पिछले राउंड में जीत के सहारे सयुंक्त चौंथे स्थान पर पहुँच गए है जबकि अंटोन काले मोहरो से बुल्गारिया के मार्टिन पेट्रोव का सामना करेंगे । अरविंद 6.5 अंक पर है और आखरी राउंड की जीत उन्हे भी शीर्ष 3 में होना सुनिश्चित कर रही है । पढे यह लेख  

प्रग्गानंधा नें रचा इतिहास :सबसे कम उम्र में 2600 पार !

05/12/2019 -

भारत के नन्हें शतरंज सम्राट के लिए नए रिकार्ड बनाना जैसे एक आदत बन गयी है । विश्व यूथ शतरंज चैम्पियन ग्रांड मास्टर आर प्रग्गानंधा नें आखिरकार इतिहास बनाते हुए 2600 रेटिंग का आंकड़ा पार कर लिया और प्रग्गा नें ऐसा 14 वर्ष 3 माह और 24 दिन की आयु मे किया । इससे पहले निहाल सरीन ने 14 वर्ष 10 माह की उम्र में यह आंकड़ा पार किया था तो इस तरह प्रग्गानंधा सबसे कम उम्र के ऐसे भारतीय खिलाड़ी बन गए जिन्होने यह स्तर हासिल किया । विश्व स्तर पर ऐसा करने वाले वह दूसरे सबसे कम उम्र के खिलाड़ी बने और वर्तमान ग्रांड मास्टर में पहले खिलाड़ी । इसके साथ ही लंदन चेस क्लासिक फीडे ओपन में उन्होने 6.5 अंक बनाते हुए एकल बढ़त हासिल कर ली है और अगर उनकी यही रफ्तार जारी रही तो वह खिताब भी हासिल कर सकते है । भारत के अरविंद चितांबरम और औस्ट्रेलिया के अंटोन स्मिरनोव 6 अंक बनाकर सयुंक्त दूसरे स्थान पर चल रहे है । पढे यह लेख देखे प्रग्गा की जीत का विडियो 

लंदन फीडे ओपन:प्रग्गानंधा की 5वी जीत,2600 के करीब

04/12/2019 -

भारत के नन्हें शतरंज सम्राट आर प्रग्गानंधा अब एक और इतिहास बनाने की ओर आगे बढ़ रहे है उन्होने लंदन फीडे ओपन के छठे राउंड में जीत दर्ज करते हुए अपनी लाइव रेटिंग 2597 पहुंचा दी है और अगर वह इस प्रदर्शन को बना के रखते है तो 2600 रेटिंग छूने वाले वह सबसे युवा भारतीय ग्रांड मास्टर बन जाएँगे उनसे पहले निहाल सरीन नें 14 वर्ष और 10 माह की उम्र में यह कारनामा किया था जबकि प्रग्गानंधा अभी 14 वर्ष 3 माह और 25 दिन के है । खैर इसके अलावा भारत के शीर्ष वरीय अरविंद चितांबरम नें अपनी पाँचवी जीत दर्ज करते हुए 5.5 अंक बना लिए और अब अगले राउंड में सयुंक्त बढ़त पर चल रहे ऑस्ट्रेलिया के अंटोन स्मिरनोव से उन्हे मुक़ाबला खेलना होगा । अन्य प्रमुख भारतीय खिलाड़ियों में  सहज ग्रोवर और आर वैशाली नें अपने मुक़ाबले ड्रॉ खेले । पढे यह लेख और देखे प्रग्गा की जीत का विडियो हिन्दी चेसबेस इंडिया यूट्यूब चैनल के माध्यम से 

मोनाको ग्रां प्री - हारी बाजी जीतकर की हम्पी नें शुरुआत

04/12/2019 -

भारत की शीर्ष महिला खिलाड़ी कोनेरु हम्पी नें एक बार फिर अपनी जबरजस्त जुझारू क्षमता का परिचय देते हुए रूस की गुनिना वालेंटीना के खिलाफ काले मोहरो से खेलते हुए  एक लगभग हारी हुई बाजी को पलटते हुए मोनाको महिला ग्रां प्री की बेहतरीन शुरुआत की और शुरुआती बढ़त हासिल कर ली । आपको बता दे की कोनेरु इससे पहले रूस मे हुई महिला ग्रां प्री का पहला पड़ाव जीत चुकी है और इस समय 160 अंक लेकर फीडे महिला कैंडीडेट मे पहुँचने की दौड़ में सबसे आगे बनी हुई है और अगर वह यहाँ भी खिताब जीतती है तो उनका अगले वर्ष होने वाले फीडे कैंडीडेट में खेलना तय हो जाएगा । भारत की दूसरी शीर्ष महिला खिलाड़ी हरिका द्रोणावल्ली नें ड्रॉ खेलते हुए प्रतियोगिता की शुरुआत की । पहले दिन हम्पी जीतने वाली एकमात्र खिलाड़ी रही । पढे यह लेख 

लंदन फीडे ओपन - चार जीत के बाद प्रग्गा नें खेला ड्रॉ

03/12/2019 -

लंदन चेस क्लासिक के फीडे ओपन चैंपियनशिप में भारत के प्रग्गानंधा नें लगातार चार जीत दर्ज करने के बाद पांचवे राउंड में औस्ट्रेलियन ग्रांडमास्टर अंटोन स्मिरनोव से ड्रॉ खेला । पेट्रोफ डिफेंस में उन्हे सफ़ेद मोहरो से ज्यादा कुछ काटने को नहीं मिला और मैच महज 17 चालों में ड्रॉ रहा । खैर अच्छी खबर यह रही की प्रतियोगिता के टॉप सीड भारत के अरविंद चितांबरम नें अच्छा खेल दिखाते हुए जीत दर्ज की और पुनः सयुंक्त बढ़त पर पहुँच गए । जबकि भारत के सहज ग्रोवर और आर वैशाली अंको पर खेल रहे है । 5 राउंड के बाद प्रग्गानंधा ,अरविंद समेत ऑस्ट्रेलिया के अंटोन और  इंग्लैंड के डेनियल गोरमाली ,और बुल्गारिया के मार्टिन पेट्रो 4.5 अंको के साथ सयुंक्त बढ़त पर चल रहे है। पढे यह लेख 

दिसंबर 2019 फीडे रेटिंग - आनंद -हम्पी शीर्ष भारतीय

02/12/2019 -

विश्व शतरंज संघ नें दिसंबर माह की फीडे रेटिंग जारी कर दी है और इस भी सिर्फ महिला वर्ग में ही कोनेरु हम्पी और हरिका द्रोणावल्ली शीर्ष 10 में शामिल है । कोनेरु नें जहां अपना तीसरा तो हरिका नें दसवां स्थान बरकरार रखा है । पुरुष वर्ग मे विश्वनाथन आनंद 2 स्थान के नुकसान के साथ अब 15 वे स्थान पर पहुँच गए है तो हरिकृष्णा 3 स्थान के नुकसान के साथ 27 वे तो विदित 2 स्थान के नुकसान के साथ 30 वे स्थान पर पहुँच गए है । हालांकि ब्लिट्ज़ रैंकिंग मे जरूर विदित आनंद के बाद 2750 का आंकड़ा छूने वाले दूसरे भारतीय खिलाड़ी बने है । खिलाड़ियो की रेटिंग जाने का असर देश की रंकिंग पर भी दिखा पर यहाँ भारत रूस ,अमेरिका और चीन के बाद चौंथे स्थान पर बना हुआ है । पढे यह लेख 

लंदन फीडे ओपन - प्रग्गानंधा की बेहतरीन जीत

01/12/2019 -

लंदन फीडे ओपन में भारत के नन्हें सितारे आर प्रग्गानंधा नें तीसरी जीत के साथ सयुंक्त बढ़त हासिल कर ली है । तीसरे राउंड में उन्होने इंग्लैंड के रिचर्ड बेट्स को जिस अंदाज में पराजित किया वह वाकई यह बताता है की प्रग्गानंधा किस अंदाज से धीरे धीरे किस तरह से लगातार खुद को बेहतर करने की राह पकड़ चुके है । तीसरे सीड प्रग्गानंधा नें 2586 रेटिंग के साथ प्रतियोगिता की शुरुआत की थी और अब वह 2600 रेटिंग से सिर्फ 10 अंको की दूरी पर मतलब 2590 तक पहुँच गए है देखना होगा की की क्या वह इस प्रतियोगिता से 2600 का आंकड़ा पार करेंगे । खैर बात करे दो अन्य भारतीय खिलाड़ियों की तो अरविंद चितांबरम और सहज ग्रोवर भी अपने तीनों मुक़ाबले जीतकर 3 अंको के साथ सयुंक्त बढ़त पर पहुँच गए है । पढे यह लेख और देखे प्रग्गा के मैच का विडियो विश्लेषण 

लंदन फीडे ओपन - अरविंद -प्रग्गा की अच्छी शुरुआत

30/11/2019 -

35 देशो के 166 खिलाड़ियों के बीच प्रतिष्ठित लंदन चेस क्लासिक फीडे ओपन का शुभारंभ हो गया । भारत के वर्तमान राष्ट्रीय चैम्पियन अरविंद चितांबरम को प्रतियोगिता मे शीर्ष वरीयता दी गयी है जबकि नन्हें ग्रांड मास्टर और अंडर 18 वर्तमान विश्व चैम्पियन आर प्रग्गानंधा को तीसरी वरीयता मिली है । अन्य भारतीय खिलाड़ियों में ग्रांड मास्टर पूर्व विश्व यूथ चैम्पियन रहे सहज ग्रोवर को सातवी वरीयता दी गयी है जबकि महिला वर्ग आर वैशाली खेल रही है । पहले दो राउंड के बाद अरविंद चितांबरम , आर प्रग्गानंधा और सहज ग्रोवर नें अपने दोनों मैच जीतकर अच्छी शुरुआत की है । जबकि वैशाली पहले राउंड मे उलटफेर का शिकार होने के बाद दूसरे राउंड में जीतकर लय में लौटते नजर आई । पढे यह लेख 

विश्व रैपिड और ब्लिट्ज़ 2019 : मॉस्को में लगेगा जमघट

29/11/2019 -

विश्व शतरंज संघ नें कुछ दिनो पहले ही विश्व रैपिड और ब्लिट्ज़ शतरंज चैंपियनशिप के लिए समय और तारीख की घोषणा की थी अब उसकी रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया भी शुरू हो चुकी है । प्रतियोगिता 26 से 30 दिसंबर के दौरान मॉस्को ,रूस मे खेली जाएगी । रूस मे प्रतियोगिता के होने से निश्चित तौर पर प्रतिभागिता का स्तर उपर उठ जाएगा । भारत से भी अच्छी संख्या मे खिलाड़ियों के इसमें भाग लेने के आसार है । पिछले तीन सालों मे रैपिड और ब्लिट्ज़ की स्वीकार्यता पहले से ज्यादा बढ़ी है और इसीलिए विश्व चैम्पियनशिप का महत्व भी बढ़ा है । देखना होगा की कौन इस बार शतरंज के इस फटाफट फॉर्मेट में बाजी मारता है । सवाल यह भी रहेगा क्या एक बार फिर कार्लसन शतरंज के तीनों फॉर्मेट में खिताब जीतने का कारनामा करेंगे । विश्वनाथन आनंद , पेंटाला हरिकृष्णा ,विदित गुजराती ,निहाल सरीन ,कोनेरु हम्पी और हरिका द्रोणावल्ली के उपर भारतीय संभावनाओं का भार होगा । पढे इस लेख को 

मोनको फीडे ग्रां प्री - हम्पी और हरिका पर होगी नजर

28/11/2019 -

भारतीय महिला शतरंज की दोनों प्रमुख खिलाड़ी विश्व नंबर 3 कोनेरु हम्पी और विश्व नंबर 10 हरिका द्रोणावल्ली एक बार फिर फीडे महिला ग्रां प्री में एक साथ प्रतिभागिता करेंगी । फीडे महिला ग्रां प्री के दूसरे पड़ाव में यह दोनों खिलाड़ी मोनको में विश्व की 8 अन्य शीर्ष महिला खिलाड़ियों के साथ 9 राउंड के राउंड रॉबिन मुक़ाबले खेलेंगी । इससे पहले रूस में हुई ग्रांड प्री जीतकर भारत की कोनेरु हम्पी पहले ही कैंडीडेट पहुँचने की दौड़ में सबसे आगे चल रही है और देखना होगा यहाँ वह कैसा खेल दिखाती है । पूर्व में फीडे ग्रां प्री की विजेता रह चुकी हरिका के लिए भी यह एक अच्छा अवसर होगा अपनी सफलता दोहरने का । पढे यह लेख 

क्यूँ आनंद नहीं पहुंचे ग्रांड चेस टूर फ़ाइनल ?

27/11/2019 -

भारत की शान विश्वनाथन आनंद ग्रांड चेस टूर के फ़ाइनल में नहीं पहुँच पाये है और यह बात भारतीय शतरंज प्रेमियों को काफी अखर रही है और ऐसा हो भी क्यूँ ना आनंद को कौन वहाँ खेलते नहीं देखना चाहता था । खैर कल से हमें काफी सवाल आए है की हम इस बारे में जरा और जानकारी दे तो इस लेख में आपको पता लगेगा की आखिर ऐसा कैसे हो गया । दरअसल आनंद को टाटा स्टील इंडिया शतरंज टूर्नामेंट में सिर्फ छठा स्थान हासिल करना था और वह लंदन में होने वाले फ़ाइनल में पहुँच जाते । दरअसल आनंद प्रतियोगिता के 13 ब्लिट्ज़ मुक़ाबले तक अच्छा खेल रहे थे और पहले पेंटाला हरिकृष्णा और फिर वेसली सो के उपर लगातार दो जीत दर्ज कर चुके थे और ऐसा लग रहा था की उनका ग्रांड चेस टूर का फ़ाइनल पहुँचना एकदम तय है पर उसके बाद अगले बचे 5 राउंड में आनंद सिर्फ 1 अंक बना सके और वह सातवाँ स्थान ही हासिल कर सके और इस दौड़ से बाहर हो गए । पढे यह लेख 

कार्लसन को फिर भाया भारत ! जीता टाटा स्टील खिताब

26/11/2019 -

भारत की भूमि मेगनस कार्लसन को बहुत भाती है और यह बात 6 साल बाद एक बार फिर साबित हो गयी । नॉर्वे के मेगनस कार्लसन नें टाटा स्टील इंडिया का खिताब बेहद शानदार प्रदर्शन के साथ अपने नाम कर लिया ।  मेरे सामने अनायास ही एक बार चेन्नई  2013 का वह दृश्य सामने आ गया जब उन्होने विश्व चैंपियनशिप के दसवें राउंड में ही खिताब जीतकर विश्व चैम्पियन का तमगा हासिल किया था । इस दौरे के पहले सेंट लुईस रैपिड और ब्लिट्ज में बेहद खराब प्रदर्शन और फिर फिशर रैंडम शतरंज के फ़ाइनल में  अमेरिका के वेसली सो के खिलाफ एकतरफा हार नें उन्हे जोरदार झटका दिया था पर भारत आते ही जैसे कार्लसन में उनका खोया आत्मविश्वास वापस लौट आया और पहले ही दिन उन्होने जो रफ्तार पकड़ी वह अंत तक कायम रही । अमेरिका के नाकामुरा के लिए भी यह प्रतियोगिता अच्छी साबित हुई और उन्होने बेहतरीन प्रदर्शन के साथ दूसरा स्थान हासिल किया । भारत के लिए विश्वनाथन आनंद का लंदन के लिए चयनित ना हो पाना एक झटका रहा । हरिकृष्णा काफी बेहतर कर सकते थे पर उन्होने थोड़ा निराश किया तो विदित भले ही नौवे स्थान पर रहे पर उन्होने कुछ खास मुक़ाबले जीतकर भविष्य की थोड़ी उम्मीद तो जगाई ही है । अमृता मोकल के तस्वीरों के साथ पढे यह लेख । 

टाटा स्टील इंडिया DAY 4 - फिर आनंद से ही उम्मीद

25/11/2019 -

कोलकाता में भारतीय शतरंज इतिहास के सबसे बड़े रैपिड और ब्लिट्ज़ टूर्नामेंट टाटा स्टील इंडिया में रैपिड में मेगनस कार्लसन नें तो अपना जलवा दिखाया ही आज शुरू हुए ब्लिट्ज़ मुकाबलों में भी कार्लसन बढ़त बनाने में कामयाब रहे । हालांकि ब्लिट्ज़ में उन्हे डिंग लीरेन से हार का सामना करना पड़ा और यह उनकी भारत में अब तक  की पहली हार रही । नाकामुरा नें रैपिड के तरह ब्लिट्ज़ में भी अपना दूसरा स्थान बरकरार रखा है । भारत की उम्मीद अभी विश्वनाथन आनंद पर है क्यूंकी वह ही अकेले ऐसे खिलाड़ी नजर आते है जो कल बेहतर प्रदर्शन कर शीर्ष तीन में जगह बना सकते है । पढे क्या हुआ पहले दिन के ब्लिट्ज़ मुक़ाबले में ।  

मयंक और अनुपम बने राष्ट्रीय अण्डर-11 चैम्पियन

25/11/2019 -

अखिल भारतीय शतरंज संघ से संबंद्ध दिल्ली शतरंज संघ के तत्वावधान में नई दिल्ली के इंदिरा गांधी इनडोर स्टेडियम के केडी जाधव हाल में 15 नवंबर से शुरू हुई राष्ट्रीय अण्डर-11 ओपेन चेस चैम्पियनशिप का शानदार समापन 23 नवंबर हुआ। प्रतियोगिता के ओपेन वर्ग का खिताब 8वीं सीटेड आसाम के मयंक चक्रबोर्ती (1849) 9.5 अंक बनाकर और गर्ल्स का खिताब केरल की अनुपम एम श्री कुमार (1599) ने अपने अभूतपूर्व प्रदर्शन से 10.5 अंक बनाकर अपने नाम कर लिया। आठ दिनों तक चली इस प्रतियोगिता के दोनों वर्गों में देश के 27 अलग-अलग राज्यों के 439 खिलाड़ियों ने अपने अनुशासित खेल से चार चांद लगा दिया। प्रतियोगिता में कुल 298 रेटेड खिलाड़ी शामिल रहे। पढ़े नितेश श्रीवास्तव की रिपोर्ट फोटो जितेन्द्र चौधरी