chessbase india logo

The secret chess database

What is a very powerful way to do your opening preparation? Enter the world of Correspondence Database 2020. This is a database of 1.6 million games played in correspondence chess which can give you some amazing ideas which your over the board opponents would not be aware of! Check more details.

शतरंज से सीखे मुश्किलो का सामना करना - ग्रांडमास्टर हिमांशु शर्मा

22/05/2020 -

हरियाणा के छोटे से शहर रोहतक से निकलकर अपनी मेहनत के दम पर भारतीय शतरंज जगत में सबसे ज्यादा फीडे रेटिंग टूर्नामेंट का खिताब जीतने का रिकॉर्ड अपने पास रखने वाले ग्रांड मास्टर हिमांशु शर्मा को भारतीय शतरंज में एक खास स्थान हासिल है उनकी नैसर्गिक खेलने की क्षमता उन्हे हमेशा से एक खास श्रेणी में रखती है । एक इंसान के तौर पर भी हिमांशु की व्यंग और हास्य करने क्षमता के साथ उनका अच्छा व्यवहार आपको प्रभावित करता है ।वर्तमान में हिमांशु मुंबई के आयकर विभाग में खेल कोटे में कार्यरत है । हिमांशु नें कुछ दिनो पहले पंजाब केसरी से बातचीत की थी । पढे यह लेख 

लिंडोरेस एबी रैपिड चैलेंज शतरंज में तय हुए अंतिम 8

21/05/2020 -

मेगनस कार्लसन शतरंज टूर के पहले पड़ाव लिंडोरेस एबी रैपिड चैलेंज शतरंज में पहले तीन दिन के बाद शीर्ष आठ खिलाड़ी तय हो गए है मतलब क्वाटरफ़ाइनल के नाम तय हो गए और अब एक दिन के विश्राम के बाद सेमीफ़ाइनल मे पहुँचने की जंग शुरू हो जाएगी । एक बार फिर अमेरिका के हिकारु नाकामुरा लीग चरण के सबसे बेहतरीन खिलाड़ी साबित हुए है और 11 राउंड के बाद 7.5 अंक बनाकर पहले स्थान पर रहे है जबकि रूस के सेरगी कार्याकिन काफी दिनो बाद अच्छी शतरंज खेलते नजर आए और 7 अंक बनाकर दूसरे स्थान पर रहे । विश्व चैम्पियन मेगनस कार्लसन किसी तरह अंतिम राउंड मे फीडे के अलीरेजा फिरौजा को मात देते हुए तीसरे स्थान पर पहुँचने मे कामयाब रहे । अन्य पाँच खिलाड़ियों मे अमेरिका के वेसली सो ,चीन के यू यांगी ,डिंग लीरेन ,रूस के डेनियल डुबोव और अर्मेनिया के लेवोन अरोनियन अंतिम आठ मे शामिल हो सके । पढे यह लेख 

कार्लसन और लागनों नें ही जीता फीडे स्टेनिज मेमोरियल

19/05/2020 -

स्टेनिज मेमोरियल शतरंज का खिताब आखिरकार दोनों मौजूदा विश्व ब्लिट्ज़ शतरंज  चैम्पियन नॉर्वे के मेगनस कार्लसन और रूस की लागनों काटेरयना नें अपने नाम कर लिया । पुरुष वर्ग मे दूसरे दिन दो हार के साथ मुश्किल मे नजर आने वाले मेगनस कार्लसन तीसरे दिन लय मे नजर आए और 3 जीत 3 ड्रॉ से अविजित रहते हुए शीर्ष पर रहे दूसरा कारण डेनियल डुबोव का खराब प्रदर्शन भी रहा और अंतिम दिन वह सिर्फ 2 अंक ही बना पाये और 2 अंक के अंतर से दूसरे स्थान पर रहे । महिला वर्ग का खिताब तो बेहद रोमांचक स्थिति मे जाकर टाईब्रेक मे हिस्से आया । फीडे द्वारा ऑनलाइन आयोजित पिछले दिनो मे यह दूसरा बड़ा आयोजन था और इसे भी विश्व स्तर पर जिस तरह से देखा गया उससे यह बात तो साफ नजर आती है की कोविड 19 के इस मुश्किल दौर मे शतरंज बेहद लोकप्रिय खेल के तौर पर उभर कर सामने आया है । 

स्टेनिज मेमोरियल :D2: डुबोव और लागनों निकले आगे

17/05/2020 -

फीडे ऑनलाइन स्टेनिज मेमोरियल शतरंज के दूसरे दिन काफी उलटफेर हुए और पहले दिन के सबसे आगे चल रहे दोनों खिलाड़ी मेगनस कार्लसन और अलेक्ज़ेंड्रा कोस्टेनियुक दूसरे स्थान पर सरक गए । कार्लसन को दूसरे दिन लगातार दो हार के झटके नें पीछे कर दिया उन्हे पहले तो डेनियल डुबोव से और फिर पीटर स्वीडलर से हार का सामना करना पड़ा । जबकि महिला वर्ग मे अलेक्ज़ेंड्रा कोस्टेनियुक सिर्फ 2 अंक ही बना पायी और वर्तमान विश्व ब्लिट्ज़ चैम्पियन लागनों काटेरयना लगातार जीत से पहले स्थान पर पहुँच गयी है । हालांकि ब्लिट्ज़ मुकाबलों मे अंतिम दिन ही यह निर्णय हो पाएगा की विजेता कौन बनेगा । पढे यह लेख 

स्टेनिज मेमोरियल - D1 : कार्लसन -कोस्टेनियुक बढ़त में

16/05/2020 -

विश्व शतरंज इन दिनो लगातार एक के बाद एक बड़े ऑनलाइन टूर्नामेंट का गवाह बन रहा है और विश्व शतरंज संघ भी लगातार इस तरह के आयोजन की नयी योजनाओ के साथ सामने आ रहा है । इसी श्रंखला मे कल से पहले विश्व चैम्पियन और आधुनिक शतरंज के पितामह कहे जाने वाले विलियम स्टेनिज मेमोरियल टूर्नामेंट का शुक्रवार को आरंभ हुआ । पहले दिन छह राउंड ओपन और महिला दोनों वर्गों में खेले गए । महिला वर्ग में जहां एलेक्जेंड्रा कोस्टेनीयुक तो पुरुष वर्ग में मेगनस कार्लसन पहले दिन सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने में कामयाब रहे । तीन दिवसीय इस स्पर्धा में हर दिन 6 राउंड खेले जाने है । पढे यह लेख

अब होगा मेगनस कार्लसन ऑनलाइन चैस टूर

15/05/2020 -

मेगनस कार्लसन नें जैसे ठान लिया है की वह इस वैश्विक महामारी कोरोना के मुश्किल वक्त में शतरंज को और प्रसिद्ध बनाने के लिए वह सब कुछ करेंगे जो वह कर सकते है । शायद खेल को कुछ लौटने के लिए उन्होने इस वक्त को ही चुना है और अब वह एक बड़ी ऑनलाइन सुपर ग्रांड मास्टर टूर्नामेंट की सीरीज लेकर आ रहे है जहां एक नहीं हमें चार बड़े टूर्नामेंट देखने को मिलेंगे । कुछ दिनो पहले ही मेगनस कार्लसन आमंत्रण लीग की सफलता नें सभी को बहुत प्रभावित किया था और अब चार सुपर ग्रांड मास्टर टूर्नामेंट आपको अगले दो माह के लिए बहुत सारा शतरंज देने जा रहे है । आइये जाने कब और कहाँ होंगे यह मुक़ाबले पढे यह लेख 

वापसी के बाद कोई लक्ष्य नहीं बनाया था - कोनेरु हम्पी

14/05/2020 -

मुझे खुशी है की मैं महिला वर्ग में देश के लिए पहला विश्व टाइटल जीतने में कामयाब रही- यह कहना है पद्म श्री और अर्जुन अवार्ड से सम्मानित भारत की सर्वश्रेष्ठ महिला शतरंज खिलाड़ी मौजूदा विश्व रैपिड चैम्पियन कोनेरु हम्पी का जिन्होने कुछ दिनो पूर्व हिन्दी के प्रमुख अखबार पंजाब केसरी को इंटरव्यू दिया । विश्व शतरंज ताज की बड़ी दावेदार और कुछ माह पहले ही विश्व रैपिड चैम्पियन बनने वाली कोनेरु नें अपने शतरंज जीवन के पूर्व की उपलब्धियों वर्तमान के प्रयास और भविष्य की योजनाओं पर बातचीत की । आपको बता दे की कुछ दिनो पूर्व ही हुए फीडे ऑनलाइन नेशन्स कप के अलावा कुछ चैरिटी के मुकाबलों मे ही वह खेलते नजर आ चुकी है । आइये पढे यह इंटरव्यू 

अमेरिका के एंड्रू टंग बने सुल्तान खान कप विजेता

13/05/2020 -

चेसबेस इंडिया द्वारा भारत के पूर्व खिलाड़ी सुल्तान खान की स्मृति मे आयोजित और आईपीएस अकादमी द्वारा प्रायोजित ऑनलाइन इंटरनेशनल शतरंज टूर्नामेंट का खिताब अमेरिका के ग्रांड मास्टर एंड्रू टंग नें अपने नाम कर लिया उन्होने 10 राउंड मे 8 जीत 1 ड्रॉ और 1 हार के साथ कुल कुल 9 अंक बनाकर खिताब अपने नाम कर लिया । पेरु के ग्रांड मास्टर मार्टिनेज एडुयार्डो और भारत के ग्रांड मास्टर आर्यन चोपड़ा 8.5 अंक बनाकर टाईब्रेक के आधार पर क्रमशः दूसरे और तीसरे स्थान पर रहे । प्रतियोगिता मे कुल 10 राउंड खेले गए जिसमें लगभग 15 देशो के 34 ग्रांड मास्टर ,35 इंटरनेशनल मास्टर.3 महिला ग्रांड मास्टर ,और 10 महिला इंटरनेशनल मास्टर खिलाड़ियों समेत कुल 205 खिलाड़ियों नें भाग लिया । प्रतियोगिता मे कुल 1 लाख 1 हजार रुपेय की पुरुष्कार राशि दी गयी । यह चेसबेस इंडिया द्वारा आयोजित अब तक का सबसे बड़ा इंटरनेशनल ऑनलाइन टूर्नामेंट बना गया । पढे यह लेख 

फबियानों करूआना : सर्वश्रेष्ठ नेशन्स कप खिलाड़ी

12/05/2020 -

फीडे ऑनलाइन नेशंस कप तो समाप्त हो गया है और चीन इसका विजेता भी बन गया पर इस टूर्नामेंट में फबियानों करूआना को सबसे बेहतरीन खिलाड़ी होने का खिताब भी हासिल हुआ है । यह बात खास इसीलिए भी है की करूआना जिन्हे कभी भी तेज शतरंज मतलब रैपिड और ब्लिट्ज़ शतरंज का माहिर नहीं माना गया पिछले कुछ समय से रैपिड और ब्लिट्ज़ में लगातार अपना प्रदर्शन सुधार रहे है । पहले मेगनस कार्लसन आमंत्रण लीग और फिर फीडे नेशन्स कप में उनका प्रदर्शन इस बात को साबित करता है । हम सभी को याद है किस तरह कार्लसन के खिलाफ पिछली विश्व चैंपियनशिप में वह खिताब रैपिड टाईब्रेक में ही हारे थे । आइये नजर डालते है उनके हालिया प्रदर्शन पर । पढे यह लेख 

चीन बना फीडे ऑनलाइन नेशन्स कप का विजेता

11/05/2020 -

फीडे द्वारा इतिहास में पहली बार आयोजित किए गए ऑनलाइन नेशन्स कप नें लोकप्रियता के नए आयाम स्थापित करते हुए मात्र 6 दिवसीय इस मुक़ाबले को बेहद सफल बना दिया । चीन की टीम जो पहले से ही टॉप सीड थी नें अपने बेहतरीन खेल से सभी को पीछे छोड़ते हुए नेशन्स कप का खिताब अपने नाम कर लिया हालांकि अमेरिका नें भी अपने प्रदर्शन से काफी प्रभावित किया । रूस और भारत के प्रदर्शन जहां अपेक्षा से काफी फीका रहा तो यूरोप की सयुंक्त टीम भी शानदार प्रदर्शन करने में कामयाब रही । शेष विश्व की टीम कभी भी प्रतियोगिता में तालमेल नहीं बैठा पाई और अंतिम स्थान पर रही । प्रतियोगिता में शुरू से लेकर अंत तक बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले फबियानों करूआना को सबसे बेहतरीन खिलाड़ी के खिताब से नवाजा गया । 

फीडे नेशन्स कप:R:9&10 - चीन और अमेरिका फ़ाइनल में ,भारत को खूब खली आनंद की कमी

10/05/2020 -

फीडे नेशन्स कप में भारत क सफर 10 राउंड के बाद थम गया वैसे यह तो  तीसरे ही दिन लगभग तय हो गया था पर फिर भी प्रसंशकों को अंतिम दिन टीम से चीन और रूस जैसी टीम के खिलाफ अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद थी पर टीम दोनों मुक़ाबले हार गयी । सबसे पहले राउंड 9 में विश्वनाथन आनंद का टीम में ना होना एक नयी खबर थी तो दिन  का खेल समापन होते होते उनकी कमी बहुत महसूस हो रही थी । खैर युवा जोश के हवाले टीम इंडिया पहले तो चीन से 2.5-1.5 से हारी और फिर रूस के खिलाफ 2.5-0.5 से बड़ी हार की ओर बढ्ने लगी थी पर कोनेरु हम्पी नें आखिरी मैच में गिरिया ओलगा को मात देते हुए स्कोर 2.5-1.5 करते हुए सम्मानजनक समापन किया । अब फ़ाइनल चीन और अमेरिका के बीच खेला जाएगा , पढे यह लेख 

फीडे नेशन्स कप :R-7&8 भारत की मिली पहली जीत

09/05/2020 -

फीडे नेशन्स कप का चौंथा दिन आखिरकार भारत के लिए जीत की खबर लेकर आया । पहले छह मैच में चार हार और दो ड्रॉ हासिल करने वाली भारतीय टीम नें आखिरकार सातवे राउंड में रेस्ट ऑफ द वर्ल्ड की टीम को मात देते हुए प्रतियोगिता में पहली बार जीत का स्वाद चखा ,भारत नें इस मैच को 2.5-1.5 के अंतर से जीता और इस मैच में विश्वनाथन आनंद और पेंटाला हरिकृष्णा नें खास योगदान दिया । आठवे राउंड में भी भारत जीत के बेहद करीब पहुँच गया जब विदित की जीत के सहारे भारत यूरोप से 2-1 से आगे चल रहा था पर दुर्भाग्य से हरिकृष्णा जान डूड़ा से ड्रॉ मैच हार गए और स्कोर 2-2 रहा । इस परिणाम से भारत अब सयुंक्त चौंथे स्थान पर पहुँच गया है और नौवे और दसवें राउंड में जीत भारत को और आगे ले जा सकते है । पढे यह लेख 

फीडे नेशन्स कप:R-5&6: आनंद की दहाड़ पर फिर भी नहीं जीते हम

08/05/2020 -

कहते है की टीम चैंपियनशिप में किसी एक खिलाड़ी की लय से ज्यादा महत्वपूर्ण यह होता है की कुल मिलाकर आपकी टीम कैसा प्रदर्शन कर रही है मतलब हर खिलाड़ी का योगदान अहम होता है । फीडे नेशंस कप में भारत के लिए कुछ ऐसा ही अब तक देखने को मिला है ,टीम इंडिया अभी तक हुए छह राउंड में एक भी मुक़ाबला जीत नहीं सकी है ,दो मुक़ाबले ड्रॉ रहे है जबकि चार में भारत को हार का सामना करना पड़ा है । तीसरे दिन राउंड 5 में जहां भारत विश्वनाथन आनंद की नेपोमनियाची पर शानदार जीत से रूस के खिलाफ आगे बढ़ रहा था हरिकृष्णा की अप्रत्याशित हार से ड्रॉ पर रुक गया तो राउंड 6 में अमेरिका के खिलाफ अधिबन की हार से सम्हल नहीं पाया और हार गया । भारतीय टीम में अब तक विश्वनाथन आनंद और कोनेरु हम्पी ही जीत हासिल कर पाये है ,जबकि टीम के रूप में प्रदर्शन नहीं कर पाना ही हमारी समस्या बनी हुई है । क्या भारत अपने अंतिम चार राउंड में अपनी स्थिति में सुधार करेगा इस पर नजर रहेगी । 

फीडे नेशन्स कप:R 3 & 4 : यूरोप और चीन से हारा भारत

07/05/2020 -

जैसा सोचा तो हुआ ठीक उसका उल्टा ,फीडे नेशन्स कप मे भारत के अब तक के प्रदर्शन से प्रसंशकों को बहुत निराशा हुई है । भारतीय टीम नें अपना पहला मैच अमेरिका से ड्रॉ करने के बाद लगातार तीन बड़े मुक़ाबले मामूली अंतर से खोये है । दूसरे दिन टीम पहले यूरोप और उसके बाद चीन के सामने टिक नहीं सकी ऐसे मे अगर भारतीय टीम को इस टूर्नामेंट मे कुछ खास करना है तो उसे आज हर हाल मे रूस और अमेरिका को पराजित करना होगा । वैसे भी जिस टीम मे विश्व खिताब जीत चुके तीन खिलाड़ी खेल रहे हो उस टीम का बेहतर प्रदर्शन करना ना सिर्फ टीम के लिए बल्कि टूर्नामेंट के लिए भी बेहद जरूरी है तभी इस तरह के आयोजन सफलता के नए आयाम छू सकते है । आइये देखते है क्या हुआ दूसरे दिन ।