chessbase india logo

शतरंज का विम्बलडन :टाटा स्टील 2021: 3 दिन बाकी

by Niklesh Jain - 12/01/2021

लंबे समय बाद एक बार फिर हम सबको एक बड़े ऑन द बोर्ड मुक़ाबले देखने मिलने जा रहे है जी हाँ शतरंज का विम्बलडन कहे जाने वाले टाटा स्टील मास्टर्स शतरंज टूर्नामेंट के लिए अब बस तीन दिन का इंतजार बाकी है । दुनिया भर मे खासतौर पर यूरोप मे कोविड की वापसी नें एक बार फिर कई बड़े आयोजनो को मुश्किलों मे डाल दिया है पर फिर भी टाटा स्टील मास्टर्स 2021 का आयोजन सभी सुरक्षा मानको को पूरा करते हुए 16 जनवरी से शुरू हो जाएगा । भारत के पेंटाला हरिकृष्णा इसका हिस्सा होंगे और इस बार आनंद की कमी को पूरा करने की कोशिश करेंगे । दुनिया के चोटी के दिग्गज खिलाड़ियों मे एक बार फिर विश्व चैम्पियन मेगनस कार्लसन खिताब के दावेदार होंगे तो मेजबान देश के अनीश गिरि पर भी सबकी निगाहे रहेंगी । फिलहाल तो तैयारियां जोरों पर है । पढे यह लेख 

टाटा स्टील शतरंज 2021 के आयोजन मे बस अब तीन दिन बाकी है और दुनिया एक और ऑन द बोर्ड शतरंज टूर्नामेंट और यूं कहे की पूर्ण क्लासिकल मुक़ाबले देखने के लिए तैयार हो चुकी है 

इस टूर्नामेंट को यूं ही शतरंज का विम्बलडन नहीं कहा जाता इसका अंदाज अपने आप मे ही इसे बडा साबित करता है 

1938 मे शुरू हुए इस आयोजन को हमेशा से ही दुनिया के सबसे बेहतरीन टूर्नामेंट मे से एक माना गया और लगभग हर विश्व चैम्पियन इसे खेलता और जीतता आया है 

2018 मे टाटा स्टील ब्लिट्ज़ भारत मे पहली बार हुए और आनंद नें इसे जीता पर विज्क आन जी के इस क्लासिकल टूर्नामेंट मे भी आनंद नें हमेशा बेहतरीन खेल दिखाया है और 1989 , 1998 ,2003 ,2004 और 2006 मे वह इसके विजेता रह चुके है , इस बार वह नहीं खेल रहे पर 

भारत के नंबर 2 पेंटाला हरिकृष्णा भारत का प्रतिनिधित्व कायम रखेंगे 

इस बार प्रतियोगिता मे कोविड के चलते खास इंतजाम किए गए और यह है नजारा किस तरह तैयारियां शुरू हुई है 

और यह बेहद खूबसूरत दिखने वाला स्थान कैसे कैसे रंग बदलेगा आप देखते जाये 

जमीन से लेकर दीवारों तक खेल का रंग आपको नजर आएगा 

नीले समंदर और शतरंज के खानो का मिश्रण 

एक अनोखा जादू लेकर आता है 

तैयारियां अब अपने अंतिम चरण मे है 

तो खिलाड़ियों का पहुँचना भी अब जारी है 

हिन्दी चेसबेस इंडिया यूट्यूब चैनल और इस पेज पर हर जानकारी आपको मिलती रहेगी 

प्रतियोगिता कार्यक्रम